प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan mantri awas yojana)



प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan mantri awas yojana)

प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan mantri awas yojana) – आज के समय में जमीनों की लगातार बढ़ती हुई कीमतों के कारण मध्यम आय वाले व्यक्ति के लिए अपना स्वयं का मकान बनाना या खरीदना काफी कठिन हो गया है। और इसी बात को मध्यनजर रखते हुए भारत सरकार ने 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री आवास योजना का शुभारम्भ किया ताकि देश के निर्धन और गरीब लोगो को रहनें के लिए घर उपलब्ध कराया जा सके।

प्रधानमंत्री आवास योजना क्या है (What is Pradhan mantri awas yojana)

प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan mantri awas yojana) माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा चलायी गयी है। इस योजना का शुभारम्भ 25 जून, 2015 को हुआ था। इस योजना का उद्देश्य 2022 तक सभी को घर उपलब्ध कराना है। भारत सरकार की यह योजना शहरी तथा ग्रामीण लोगो के लिए है,  जिसके माध्यम से नगरों व ग्रामीण इलाकों में रहने वाले गरीब लोगों को कुछ आर्थिक मदद प्रदान कर अपने घर बनाने में मदद दी जाएगी। इसके अलावा जिन लोगों के पास कच्चे मकान है जिनके पास छत नही हैं, PM Aawas Yojana घर के लिए कम कीमत पर लोन प्रदान कराने वाली आवास योजना है। अथार्त इसमे ब्याज में सब्सिडी मिलती है तथा लोन चुकाने के लिए 20 साल तक का समय मिलता है।

भारत सरकार ने इस योजना को 3 फेज’ में बांटा है-

  1. पहला फेज अप्रैल 2015 को शुरू किया था और जिसे मार्च 2017 में समाप्त कर दिया गया है इसके अंतर्गत 100 से भी अधिक शहरों में घरो का निर्माण हुआ था।
  2. दूसरा फेज अप्रैल 2017 से शुरू हुआ और जो मार्च 2019 में पूरा हुआ इसमें सरकार ने 200 से ज्यादा शहरों में मकान बनाने का लक्ष्य रखा था।
  3. तीसरा फेज अप्रैल 2019 में शुरू किया गया और मार्च 2022 में समाप्त किया जाएगा जिसमे बाकि बचे लक्ष्य को पूरा किया जाएगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना की शर्तें (Pradhan mantri awas yojana)

यदि आप प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के अंतर्गत आवेदन करना चाहते है, तो इसके लिए आपको कुछ बातों को ध्यान देना होगा और नियमों का पालन करना होगा।

  1. आवेदन करने वाले व्यक्ति या उसके परिवार के सदस्यों के नाम पर दूसरा पक्का मकान नहीं होना चाहिए। आवेदन करने वाले व्यक्ति के परिवार के सदस्य़ों में निम्नलिखित सदस्य़ों को गिना जाता है।
    • पति
    • पत्नी
    • अविवाहित पुत्र
    • अविवाहित पुत्री
  2. पीएम आवास योजना (Pradhan mantri awas yojana) के नियमों के अंतर्गत आवेदक के घर का क्षेत्रफल 200 वर्गमीटर से अधिक नहीं होना चाहिए । EWS परिवारों के लिए इसकी अधिकतम लिमिट 30 वर्गमीटर और LIG परिवारों के लिए अधिकतम 60 वर्ग मीटर रखी गई है। MIG-I कैटेगरी के परिवारों के लिए इसकी लिमिट 160 वर्गमीटर और MIG-II कैटेगरी के परिवारों के लिए 200 वर्ग मीटर तय की गई है।
  3. इस स्कीम के अंतर्गत जिस मकान के सुधार लिए लोन के लिए आवेदन कर रहे हैं, वह आपके या आपकी पत्नी के नाम होनी चाहिए और अगर आप EWS या LIG कैटेगरी में हैं तथा नई प्रॉपर्टी ले रहे है तो उसका मालिकाना हक़ महिला के नाम होना जरुरी है।
  4. प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan mantri awas yojana) के अंतर्गत आवेदक को इसके पहले कभी किसी अन्य सरकारी स्कीम के माध्यम से घर बनाने के लिए धन न मिला हो | यदि आवेदक को किसी अन्य योजना के अंतर्गत गृह निर्माण के लिए पैसा मिल चुका है, तो वह इस योजना के लिए पात्र नहीं माना जायेगा।
  5. EWS और LIG परिवार की वार्षिक इनकम: यदि आवेदक (EWS) की श्रेणी में आता हैं, तो उसके परिवार की वार्षिक आय 3 लाख रुपए (3 Lakh Rupees) से अधिक नहीं होनी चाहिए। यदि कोई लोअर इनकम कैटेगरी की श्रेणी में आते है, तो वार्षिक आय 6 लाख रुपए (6 Lakh Rupees) से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  6. MIG (Middle Income Groups)(1) और MIG (2) की सालाना आय 12 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए: यदि आवेदक MIG1 अर्थात मध्यम आमदनी (Middle Income Groups) श्रेणी के अंतर्गत आता है, तो आवेदक की वार्षिक आय 12 लाख रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए। और अगर आवेदक MIG2 कैटेगरी के अंतर्गत आते है, तो उनके वार्षिक आय 18 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए। आवेदक को आवेदन करते समय अपनी आय से सम्बंधित एक घोषणापत्र भी देना जरुरी है।
  7. प्रधानमंत्री आवास योजना स्कीम के अंतर्गत EWS और LIG श्रेणी से सम्बंधित आवेदकों को अधिकतम 6 लाख रुपए तक का ऋण मिल सकता है।  MIG1 श्रेणी के आवेदकों को अधिकतम 9 लाख रुपए के ऋण पर सब्सिडी तथा MIG 2 के आवेदकों को 12 लाख रुपए के ऋण पर सब्सिडी मिल सकती है।
  8. प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बैंक द्वारा दी गयी धनराशि पर 3 से 6.5% की दर से ब्याज लगता है। ब्याज की धनराशि का भुगतान यह बैंक को सरकार की तरफ से दिया जाता है।  बाकी की धनराशि आवेदक को चुकानी होती है।  EWS और LIG श्रेणी के परिवारों को 6.5% ब्याज कम देना होता है, जबकि MIG(I) और MIG(II) के परिवारों को  4% और 3% ब्याज देना होता है।
  9. पीएम आवास योजना के अंतर्गत आवेदक को स्वीकार हुए लोन की धनराशि को आसान किश्तों में आगामी 20 वर्षो के अन्दर देना होता है।  लोन चुकानें की यह समय सीमा सभी कैटेगरी के परिवारों के लिए एक ही निर्धारित की गयी है।  इस लोन की धनराशि को अगले 30 वषों में भी दे सकते है परन्तु  ब्याज पर छूट सिर्फ 20 वर्षों तक ही मिलेगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आवेदन कैसे करे (How to apply for Pradhan mantri awas yojana)

Pradhan Mantri Awas Yojana Apply Online Urban

प्रधानमंत्री आवास योजना की वेबसाइट https://pmaymis.gov.in/ पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। इसके अलावा आप किसी कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से भी आवेदन करवा सकते हैं।

Pradhan mantri awas yojana website
Pradhan mantri awas yojana website
  1. pmaymis.gov.in पर जाएं
  2. श्रेणी का चयन करें: वेबसाइट पर मेनू पर ‘नागरिक मूल्यांकन’ पर क्लिक करें
  3. आधार/वर्चुअल आईडी नंबर चेक करें
  4. फॉर्म भरें: आधार /वर्चुअल आईडी नंबर पूरा करने के बाद

31 मार्च, 2022 तक ही कर सकते थे आवेदन

प्रधानमंत्री आवास योजना Pradhan mantri awas yojana के लिए, आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च 2022 तय की गयी थी। यह योजना 2-2 साल के तीन चरणों में लागू की गई थी। किन्तु इसे अभी सरकार द्वारा आगे भी बढाया जा सकता है। 

Note

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (Pradhan Mantri Awas Yojana-Gramin) को मार्च 2021 से मार्च 2024 तक बढ़ाने की बात कही गई थी। कैबिनेट बैठक के बाद सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने संवाददाताओं को यह जानकारी दी थी। उन्होंने कहा था कि  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की अध्यक्षता में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई जिसके तहत ग्रामीण इलाकों में सभी को आवास सुनिश्चित किया जा सकेगा।

सट्टा मटका रिजल्ट यहां देखें (Satta Matka Result)

Leave a Reply

Your email address will not be published.